'स्टेचू ऑफ़ यूनिटी' के बारे में ख़ास बातें - Real Facts About 'Statue of Unity'



सरदार वल्लभभाई पटेल की मूर्ति 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी' दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति है, जिसका अनावरण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सरदार वल्लभभाई पटेल (भारत के प्रथम गृहमंत्री व प्रथम उप-प्रधानमंत्री) की 143वी जयन्ती पर 31अक्टूबर, 2018 के दिन किया था, आइए जानते है इस अनोखी प्रतिमा के बारे में कुछ ख़ास तथ्य, जो सच में अद्वितीय है।


✦ स्टॅच्यू ऑफ यूनिटी की लंबाई न्यू यॉर्क, अमेरिका स्थित 'स्टॅच्यू ऑफ लिबर्टी' से दोगुनी है

✦ स्टॅच्यू ऑफ यूनिटी ब्राज़ील की मशहूर 'क्राइस्ट द रिडीमर' से पाँच गुना उँची प्रतिमा है

✦ स्टॅच्यू ऑफ यूनिटी की उँचाई 182मीटर है जी की गुजरात विधानसभा में सीटो की संख्या 182 की नुमायन्दगी करती है

✦ स्टॅच्यू ऑफ यूनिटी के निर्माण में 25 हज़ार टन लोहे और 90 हज़ार टन सीमेंट का इस्तेमाल हुआ है

✦ स्टॅच्यू ऑफ यूनिटी का निर्माण सरदार सरोवर बाँध से 3.5 किमी दूर स्थिति साधू बेट टापू पर किया गया है जिसको 7 किमी दूर से देखा जा सकता है

✦ स्टॅच्यू ऑफ यूनिटी प्रतिमा का स्टील फ्रेम वर्क का काम मलेशिया की कंपनी एवेरसेनडाई ने किया था

✦ स्टॅच्यू ऑफ यूनिटी प्रतिमा के उपरी तल में बनी गॅलरी में एक साथ 200 आ सकते है


Statue of Unity के बारे में और बेहतर जानकारी के लिए पढ़े - Tallest Statue in the World ... Hindimein.net

कोई टिप्पणी नहीं